पटेल जी के बारे में


31 अक्टूवर 1875 : जन्म दिन
ग्राम : करमसद (गुजरात)
माता पिता : लड़वाई-झबेर-भाई
भाई-बहन : पाँच भाई, एक बहन
परिवार : दस एकड़ भूमि वाला लेवा पाटीदार (कृषिकर्मी)
1897 : मैट्रिक उत्तीर्ण
1899 : डिस्ट्रिक्ट प्लीडर्स परीक्षा उत्तीर्ण
1900 : गोधरा में वकालत
1908 : पत्नी जबेरवाई की मृत्यु
1910 : वैरिस्टरी पढ़ने हेतु इंग्लैण्ड रवाना
1912 : प्रथम श्रेणी में 50 पौण्ड इनाम के साथ बैरिस्ट्री उतीर्ण तथा दो सूत्रों की छूट
13 फरवरी 1913 : बम्बई वापस तथा वकालत जारी
1916 : महात्मा गांधी के भाषण में प्रथम बार भागीदारी
1917 : गांधी जी के साथ मिलकर कार्य प्रारम्भ करना
5 जनवरी 1917 : नगर पालिका चुनाव में विजयी
1918 : कैरा किसान आन्दोलन का नेतृत्व
अगस्त1920 : गुजरात राजनीतिक सभा में असहयोग आन्दोलन हेतु प्रस्ताव पारित कराया
अगस्त1921 : गुजरात कांग्रेस समिति के अध्यक्ष
1924-1928 : अध्यक्ष अहमदाबाद म्यूनिसिपल गवर्नमेन्ट
1928 : वारदोली किसान आन्दोलन का नेतृत्व एवं सरदारत्व की उपाधि् की प्राप्ति
मार्च 1929 : काठियावाड़ा राजनीति सभा की अध्यक्षता तथा क्रान्ति का आहवाहन
सित0 1929 : नेहरू के पक्ष में लाहौर कांग्रेस के अध्यक्ष पद के लिए नाम वापसी
7 मार्च 1930 : प्रथम बार गिरफ्रतार
मार्च 1931 : कराची कांग्रेस की अध्यक्षता
जनवरी 1932 से मई 1933 तक : गांधी जी के साथ यरवदा जेल में
अक्टूबर 1933 : बड़े भाई विट्ठल भाई पटेल की स्विटजरलैण्ड में मृत्यु
14 जुलाई 1934 : जेल से छूटना
1935 : आपरेशन (नाक से रक्त बहने का)
17 अक्टूबर 1940 : डिफेन्स आफ इण्डिया एक्ट में गिरफ्रतार
20 अगस्त 1941 : स्वास्थ्य के आधर पर 307 दिन बाद जेल से रिहा
1942 : भारत छोड़ो आन्दोलन में हिस्सेदारी
1944-45 : यरवदा जेल से छूटना 12 माह
1946 : बारह प्रान्तीय कांग्रेस समितियों द्वारा नाम की संस्तुति के बावजूद गांधी जी के निर्देश पर नेहरू जी के पक्ष में प्रधानमंत्री पद का दावा छोड़ना
2 सित0 1946 से 19 (15 माह) : अन्तरिम सरकार, गृहसूचना एवं दूर संचार मंत्री
15 अगस्त 1947 से : उप प्रधानमंत्री, रियासती विभाग मंत्री
9 दिस0 1947 तक : संविधन सभा में भागीदारी, चेयरमैंन, प्रान्तीय संविधन समिति, चेयरमैन, परामर्श समिति, सदस्य, स्टीयरिंग समिति सदस्य, स्टेट्स समिति
1948 : दिल की बिमारी का दौरा
1948 : गृह एवं रियासती विभाग मंत्री
13 सित0 1948 : हैदराबाद मे प्रातः सेना का प्रवेश और इसका
18 सित0 तक पफतह कर विलय
8 अक्टू0 1950 : हैदराबाद का दौरा तथा निजाम द्वारा स्वागत
7 नवम्बर 1950 : नेहरू को चीनी विस्तारवाद के विरू( चेतावनी देते हुए लिखा पत्र)
15 दिसम्बर 1950 : स्वर्गवास
 SARDAR BALLABH BHAI PATEL